अगर आप स्थानांतरण किसी एक शहर से दूसरे शहर हो गया है या आप मकान बदल रहे  हैं या अपने किसी अपने को कुछ भेजना चाहते हैं । तो आपको किसी पैकर्स और मूवर्स कंपनी की आवश्यकता पड़ेगी और आप अपने शहरों की गलियों मे किसी पैकर्स और मूवर्स कंपनी की तलाश मे घूमने लग जाते हैं । पर सावधान कहीं आपके साथ कोई धोखा न हो जाये ।

फर्जी पेकर्स एंड मूवर्स कंपनी

आजकल कई फर्जी पेकर्स एंड मूवर्स कंपनी बड़े बड़े दावे करके लोगो को लूटने मे लगी हैं और अंजाने मे ही लोग भी इनके जाल मे फंस रहे हैं और जब तक वह समझ पाते हैं की सही क्या है और ग़लत क्या है तब तक उनका कीमती सामान और पैसे लुट चुके होते हैं ।  ऐसे कई केस आजकल सुनाई पड़ जाते हैं । आज हम एक ऐसे ही केस की चर्चा करते हैं जिसमे एक फर्जी कंपनी ने दिल्ली के एक पढे-लिखे युवा को फंसा कर उसके हजारो रुपए हड़प लिए और अब उसके पास पछताने के अलावा कुछ नहीं बचा ।

दिल्ली की अपराध शाखा के पास एक बड़ी पैकर्स और मूवर्स कंपनी के एक प्रतिनिधि के खिलाफ एक शिकायत दर्ज हुई फरियादी ने बताया की उसने कंपनी के  अधिकारियों से अपने  सामानों के परिवहन के लिए संपर्क किया था और दक्षिण एक्सटेंशन से बेंगलुरु में एक फ्लैट से दो कारों के परिवहन की बात की थी ।उन्होने  उनसे अग्रिम रूप से 11,000 रु लिए और अगले दिन आने का बोलकर चले गए लेकिन 14 जुलाई की निर्धारित तारीख को दिए गए पते पर कोई भी सामान नहीं मिला। इसके बाद, अपराध शाखा में मामला दर्ज किया गया था। जब पुलिस ने छान बीन शुरू की तो कई राज़ खुले जो चौंकाने वाले थे ।

इस धोखाधड़ी मे एक नहीं बल्कि कई लोग शामिल थे वे सब एक नकली परिवहन कंपनी चला रहे थे जो की लोगो को कम लागत मे अधिक सुविधाएं देने का झांसा देकर उन्हे फँसाती थी । जब उनके गोदाम की तलाशी ली गई तो वहाँ सामान को ले जाने के लिए एक ट्रक भी मिला तथा एक कोरियाई राष्ट्रीय और एक रॉयल एनफील्ड मोटरसाइकिल और  घरेलू सामान के 150 डिब्बों सहित  माल की भारी मात्रा को भी अभियुक्तों से बरामद किया गया।

ये गिरोह कम दरों पर अधिक सुविधाए और कई लुभावने ओफर देकर ग्राहको को लुभाता था इसके बाद जब ग्राहक अपना सामान इनको सौंप देता था तो तब तक वस्तुओं को रोकता था जब तक की वो विभिन्न करों के नाम पर अच्छी ख़ासी रकम का भुगतान नहीं कर देते अपने सामान को सही सलामत देखने के एवज़ मे बेचारे ग्राहक को उनकी बात माननी पड़ती और उनके मनमाने पैसे उन्हे देने पड़ते ।

अपराध शाखा ने इस गिरोह के कई लोगो को गिरफ्तार कर लिया पर मुख्य अभियुक्त अभी फरार है ।

फर्जी पेकर्स एंड मूवर्स कंपनी

इसमे खास बात ये है की ये लोग एक बड़ी कंपनी के नाम का सहारा लेकर अपना अवैध कारोबार चला रहे थे यहाँ तक की उन्होने एक फर्जी वैबसाइट भी बना कर रखी थी । साथ ही इश्तेहार और विज्ञापन का भी काफी सामान उन्होने बना कर रखा था । ये लोग अक्सर उन लोगों को अपना शिकार बनाते थे जो अक्सर सस्ते औफ़रो की तलाश मे रहते हैं या फिर जिनहे अपना सामान जल्दी मे कहीं भेजना होता और उनके पास इतना समय नहीं होता की वो छान बीन कर सके । इनकी वैबसाइट भी काफी आकर्षक होती है और कई दूसरी वैबसाइट और सर्च इंजिन पर भी पैसे देकर ये अपनी रेटिंग दिख कर आपको फँसाते हैं और बहुत ही लुभावने तरीके से अपनी बात आपको समझाते हैं । कई बार तो आप समझ ही नहीं सकते की इतना शरीफ और  सभ्य नज़र आने वाले लोग भी ऐसे कार्यो मे लिप्त होसकते है इसलिए किसी की मासूम शक्ल देखकर कोई निर्णय न लें ।

इस केस से एक बात तो स्पष्ट है की शहर के पढे –लिखे लोग भी उतनी ही आसानी से बेबकूफ बन जाते हैं जीतने की गाँव के अनपढ़ गंवार । पर कारण सिर्फ एक हैं जानकारी की कमी और कम दाम मे अधिक का लालच । यहाँ कहीं न कहीं उन बड़ी कंपनियों की भी कोई न कोई ज़िम्मेदारी बननी चाहिए जिनके नाम पर ये कंपनियाँ मासूम लोगों को लूटती हैं ।

तो अगर आप भी किसी पैकर्स और मूवर्स कंपनी की तलाश कर रहे हैं तो पहले ठंडे दिमाग से दो बार सोचें और फिर कुछ खास बातों  का ध्यान रखें जिससे की आप अपने लिए सही पैकर्स और मूवर्स कंपनी की तलाश कर सके ।

  • कंपनी सचमुच असली है कहीं वो किसी बड़ी कंपनी के नाम का सहारा लेकर आपके साथ धोखा तो नहीं कर रही ।
  • कंपनी के पास लाइसेन्स है की नहीं ।
  • उसके कर्मचारी प्रशिक्षित हैं की नहीं ।
  • उसके पास सही कागजात हैं की नहीं ।
  • क्या वो आपको आपके सामान का बिल बना कर दे रहे हैं ।
  • कहीं उनके बिल मे कोई छुपे हुए शुल्क तो नहीं है ।
  • डील पक्की करने से पहले कागजी कारवाही पूरी करें और सभी कागजातो की पूरी छानबीन करें ।
  • एक कॉपी अपने पास भी रखें ।
  • लुभावने ओफ़रों के लालच मे ना आयें । अपनी अकल लगाएँ ।
फर्जी पेकर्स एंड मूवर्स कंपनी

अब जो सबसे मुश्किल सवाल है की आखिर हम इन सब परेशानियों का समाधान कैसे ढूँढे । आखिर अपने लिए सही पैकर्स और मूवर्स कंपनी की तलाश कैसे करें । आप चाहे तो इंटरनेट की मदद ले सकते हैं पर यहाँ भी ये ध्यान रखे की फर्जी कंपनिया अपने नाम की आकर्षक वैबसाइट बना कर भी आपको धोखा दे सकती है इसलिए किसी भरोसेमंद साइट की तलाश करें और उस पर अपनी ज़रूरत बताए । आजकल कई ऐसी वैबसाइट हैं  जो आपको घर बैठे ही मिनटों मे आपके शहर मे मौजूद सभी पैकर्स और मूवर्स कंपनी की जानकारी आपको दे सकती हैऔर आप उनपर दी गई जानकारी के आधार पर अपने लिए उपयुक्त पैकर्स और मूवर्स कंपनी का चुनाव कर सकते हैं अगर सारी सावधानियाँ लेने के बाद भी आप किसी के धोखे का शिकार हो जाते हैं तो तुरंत उपयोक्ता फोरम मे या पुलिस के पास शिकायत दर्ज कराये ताकि समय रहते वो आपके कीमती सामान को ढूंढ सके और आप जैसे कई और लोगो को लुटने से बचा सके ।

Leave feedback about this

  • Rating
Choose Image